Spread the love

करंट न्यूज ब्यूरो
आनी (कुल्लू)


जिला के आनी विधानसभा क्षेत्र की छोटी काशी निरमण्ड के अंतर्गत 18570 फुट की ऊंचाई पर स्थित उतरी भारत की सबसे कठिनतम श्रीखण्ड कैलाश यात्रा इस वर्ष प्रशासन द्वारा 11 से 24 जुलाई तक आयोजित की जाएगी।

यात्रा की तैयारियों को लेकर निरमंड में श्रीखंड यात्रा ट्रस्ट के चेयरमैन एवं डीसी कुल्लू आशुतोष गर्ग की अध्यक्षता में आयोजित एक बैठक में यह निर्णय लिया गया। बैठक में आनी विधान सभा क्षेत्र के विधायक किशोरीलाल सागर विशेष रूप से उपस्थित रहे।

डीसी कुल्लू एवं श्रीखण्ड यात्रा ट्रस्ट के अध्यक्ष आशुतोष गर्ग ने कहा कि कोविड 19 महामारी के कारण पिछले दो वर्षों में यात्रा नहीं हो पाई थी। लेकिन इस वर्ष यात्रा के आयोजन को लेकर प्रशासन ने तैयारियां शुरू कर दी है।

उन्होंने कहा कि इस वर्ष 11 से 24 जुलाई तक आधिकारिक तौर पर आयोजित होने वाली यात्रा में जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए एक सप्ताह के भीतर ही ऑनलाइन पंजीकरण रजिस्ट्रेशन की सुविधा शुरू कर दी जाएगी।

जिसके माध्यम से इस वर्ष यात्रा में जाने वाले इच्छुक यात्री अपना ऑन लाइन पंजीकरण करवा सकेंगे। पंजीकरण के लिए यात्रियों को दो सौ रुपये पंजीकरण शल्क के अतिरिक्त अपना मेडिकल फिटनेस सर्टिफिकेट अपलोड करवाना होगा।

आशुतोष गर्ग ने बताया कि हर बार की तरह इस बार भी यात्रा के दौरान पांच बेस कैंप स्थापित किये जाएंगे। जिनमें यात्रियों के पंजीकरण के अलावा मेडिकल चैकअप, श्रीखंड महादेव यात्रा से सम्बंधित जानकारी, रेस्क्यू टीम आदि के अतिरिक्त हर तरह की आवश्यक आपात सुविधाएं उपलब्ध रह सकेंगी।

आशुतोष गर्ग ने चेताया है कि चोरी छिपे यात्रा में जाने पर पूर्णतया प्रतिबंध रहेगा और पकड़े जाने पर कार्यवाही अमल में लायी जाएगी। उन्होंने बताया कि यात्रा के दौरान रास्ते मे गंदगी न फैले इसका ध्यान रखते हुए सफाई व्यवस्था बनाये रखने को लेकर एक विशेष टीम का भी गठन किया जायेगा।

इस अवसर पर निरमण्ड के एसडीएम मनमोहन सिंह, डीएसपी आनी रवींद्र सिंह नेगी, बीडीसी निरमण्ड के चेयरमैन दलीप ठाकुर, नपं निरमण्ड के उपाध्यक्ष विकास शर्मा सहित कई अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

Leave a Reply

You missed

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: