Spread the love

धर्मशाला


हिमाचल प्रदेश में कांगड़ा जिला के मुख्यालय धर्मशाला में चल रहे मुख्य सचिवों के तीन दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन के दूसरे दिन की अध्यक्षता करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आकांक्षी जिलों को इंस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट के रूप में विकसित करना होगा।

आकांक्षी जिला कार्यक्रम के महत्व पर बल देते हुए उन्होंने कहा कि इसे जिला स्तर से आगे बढ़ाते हुए शहर और ब्लॉक स्तर तक लेकर जाना होगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश के श्रेष्ठ युवा अफसरों को इन आकांक्षी जिलों में नियुक्ति देनी होगी। ताकि वे वहां अपनी रचनात्मक सोच और नए विचारों के बलबूते इस कार्यक्रम को सफल बना सकें।

देश में शिक्षा प्रणाली में सुधार को लेकर उन्होंने कहा कि डिजिटल तकनीक और मोबाइल लर्निंग एप्स से शिक्षकों के प्रशिक्षण कार्यक्रम को मजबूत किया जा सकता है।

नरेंद्र मोदी ने कहा कि अवार्ड जीत चुके सेवानिवृत्त शिक्षक अपना योगदान दें। उन्हें स्कूलों में आना चाहिए और सेवारत शिक्षकों को प्रशिक्षित करने में योगदान देना चाहिए। वहीं, शिक्षकों को प्रशिक्षित करने के लिए विशेष टीवी चैनल शुरू किए जा सकते हैं।

उन्होंने 2022-23 के बजट का उल्लेख करते हुए कहा कि भारत सरकार ने 200 ऐसे टेलीविजन चैनल शुरू करने की घोषणा की थी, जिनसे देश के दुर्गम क्षेत्रों में भी गुणवत्ता युक्त शिक्षा मुहैया करवाई जा सके।

वहीं, सचिव (वित्त एवं व्यय) ने बैठक में राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के मजबूत राजकोषीय प्रबंधन को लेकर एक इंटरएक्टिव सत्र लिया। इस सत्र में उन्होंने योजनाओं के उचित युक्तिकरण और राजकोषीय घाटे से निपटने के उपायों पर भी विमर्श किया।

Leave a Reply

You missed

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: